रायपुर. एसडीएम का आदेश बताकर फर्जी ढंग से जमीन संबंधी दस्तावेज निकलवाने और उसे फिर से एसडीएम कोर्ट में पेश करने वाले शहर का एक कारोबारी मोहनदास मानिकपुरी गिरफ्तार कर लिया गया। वहीं उसका साथी कारोबारी राजकुमार दम्मानी फरार है और पुलिस उसकी तलाश में लगी है। कुछ दिनों पहले दोनों ने अग्रिम जमानत के लिए कोर्ट में याचिका लगाई थी, जो निरस्त हो गई।

पुलिस के मुताबिक कारोबारी राजकुमार दम्मानी की भैंसथान रामसागरपारा के पास जमीन थी और वहां वह मकान निर्माण की तैयारी में था, जबकि नगर निगम द्वारा वहां की जमीन का अधिग्रहण कर लिया गया है और वहां निगम का एक प्रोजेक्ट शुरू होने वाला है। राजकुमार ने मकान ले-आउट के लिए निगम में आवेदन भी लगाया था, जिसेे निरस्त कर दिया गया। राजकुमार ने फिर वहां की जमीन की नकल निकलवाने एसडीएम दफ्तर में आवेदन लगाया था और अपने साथी कारोबारी मोहनदास मानिकपुरी के साथ वहां पहुंचा। मोहनदास ने वहां उस दस्तावेज का अपने मोबाइल से फोटो खींच लिया। इसके बाद वहां के लिपिक से उसका सत्यापन करा सील-मुहर लगी कॉपी ले ली। इसके बाद उस नकल को 22 मई को एसडीएम कोर्ट कोर्ट में लगा दिया।

बताया गया कि दस्तावेज जांच के बाद एसडीएम उस पर आदेश जारी करने वाले थे, लेकिन आपत्ति के बाद उसे निरस्त कर दिया गया। उन्होंने गोलबाजार पुलिस में इसकी रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस दोनों कारोबारियों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर उनकी तलाश में लगी है, तभी एक कारोबारी मोहन दास गिरफ्तार कर लिया गया। उसके साथी की तलाश चल रही है। पुलिस का कहना है कि दूसरा ओरापी भी जल्द पकड़ लिया जाएगा।